Friday, January 1, 2010

वेल्कम 2010

आज नव वर्ष है आया
हर्ष - उल्लास सर्वत्र है छाया ।
मिलकर बांटें सुख दुख अपना
हो पूरा हम सब का सपना ।


ईश्‍वर से मांगें यही वर
रहे सलामत हम सबका घर ।
दे हम सबको इतनी शक्ति
अटल रहें जब आए विपत्‍ति ।


न हो कोई भी प्रकोप
न हो मानव जाति का लोप ।
न हो फिर कोई युद्ध
ले जन्‍म फिर गांधी और बुद्ध।


जमीर……...
आप सभी को नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं ।
प्रश्नों की कड़ी कल से जारी रहेगी.......


10 comments:

मनोज कुमार said...

आपको नव वर्ष 2010 की हार्दिक शुभकामनाएं।

शबनम खान said...

nye saal ka sundar swagat.....

अल्पना वर्मा said...

ईश्‍वर से मांगें यही वर
रहे सलामत हम सबका घर ।
दे हम सबको इतनी शक्ति
अटल रहें जब आए विपत्‍ति ।


...
bahut hi sundar dua ki hai..
Wish you also a very happy new year

शमीम said...

Acchi kavita aur apke liye yeh saal dhero khushia laye ,yehi kaamna karta hu.

हास्यफुहार said...

बेहद पसंद आई।

बुझो तो जानें said...

Dhanyawad .Yehi dua hai ki Aap sabhi ke liye Naya saal dhero Khusia laye.

मोहसिन said...

nice,Wish u a happy & prosperous new year.

बुझो तो जानें said...

Dhanyawaad evam Shubhkamnay.

संजय भास्कर said...

happy ner year 2010

संजय भास्कर said...

happy ner year 2010