Sunday, March 14, 2010

मेरा सवाल 100

नमस्कार / आदाब मैं आज अपने १०० वें सवाल के साथ हाजिर हूं.

( आज मात्र तीन प्रश्नों के उत्तर देने हैं आपको )

प्रश्न 1- जिन्हें फ़ादर आफ़ जुलाजी कहा जाता है, उन्होंने एक पुस्तक लिखी थी , उस पुस्तक का नाम बतायें ?

प्रश्न 2- चित्र को देखें और बतायें कि आपको इसमें कितने मानव मुख(आक्रिती) दिख रहे है --


प्रश्न 3- मेरी आंखे नहीं है, पर मैं रोता हूं , मेरे पंख नही है पर मैं उडता हूं , जहां जाता हूं अन्धेरा मेरे पीछे आता है. बोलो मैं कौन हूं ?


------------------------------------------------------------------------------------




मेरा सवाल 99 का सही उत्तर- 1-बैरकपुर 2 - 0.8 second


सर्वप्रथम सही जवाब दिया है श्री राम क्रिश्न गौतम जी ने, बधाई।

अन्य सभी आगन्तुकों का आभार एवं धन्यवाद.


चलते – चलते........ अगर बड़ो का आशीर्वाद रहता है तो छोटे हर कार्य को सफ़लता पूर्वक सम्पन्न कर सकते है.

21 comments:

Akanksha~आकांक्षा said...

Badhiya Blog....Ham bhi ek jawab dete hain.
3- मन

प्रकाश गोविन्द said...

3- मन

प्रकाश गोविन्द said...

1- Aristotle
book - Sophist

बूझो तो जानें said...

Dear Ram K Gautam ji,

Mai theek 9 baje nai prashn ke saath haazir ho jata hu.Pehle se hi schedule kar deta hu .

Raat 9 baje naya prashn chaap bhi jata hai.

mere khayal se aap yahi kehna chaah rahe the. Ya ho sakta hai mai aapke prashn ko samaj nahi paa raha hu.

Bhaiyaji, agar koi baat hai aap jarur puche. Apke vicharo ki pratiksha rahegi.


Zameer

Ram Krishna Gautam said...

Answers :

1. यूनानी दार्शनिक अरस्तू ने ईसा के 300 वर्ष पूर्व जंतुओं पर एक पुस्तक लिखी थी। जिसका नाम "ऑन द गेट ऑफ़ एनिमल्स" (On the Gait of Animals) है| गैलेना (Galena) एक दूसरे रोमन वैद्य थे, जिन्होंने दूसरी शताब्दी में पशुओं की अनेक विशेषताओं का बड़ी स्पष्टता से वर्णन किया। लिनियस ने "दि सिस्टम ऑव नेचर" (1735 ई.) नामक पुस्तक में पहले पहल जंतुओं के नामकरण का वर्णन किया।

2. इन कॉफी के टुकड़ों में तीन मुखाकृतियाँ नज़र आ रही हैं|
(मुझे तो तीन ही नज़र आ रही हैं, बाकी अन्य लोगों की नज़रों पर निर्भर है!)

3. ऐसी दशा तो केवल "मन" की ही होती है|



राम कृष्ण गौतम "राम"

अल्पना वर्मा said...

1-फ़ादर आफ़ जुलाजी =Aristotle
उस पुस्तक का नाम =The History of Animals By Aristotle Written 350 B.C.E
2-एक चेहरा है

3-बादल

मनोज कुमार said...

बड़ा कठिन है भैया।

Springmelodies said...

Good Quiz!

Springmelodies said...

Ans-1-Aristotle
book by him is--'The History of Animals'


2-Only One face

3-Cloud

बूझो तो जानें said...

NAMASKAR.

PRASHN TO MAINE AASAN SA PUCHNE KI KOSHISH KI HAI.
AAP AAGUNTAKGAN KAL RAAT 9 BAJE TAK UTTAR DE SAKTE HAI.

AGAR JARURAT PADI TO KAL SUBAH 8 BAJE HINT DE DUNGA.

Springmelodies said...

Congratulations to Zameer and all participants for this century Quiz!
Really great achievement.

Springmelodies said...

@Zameer,
I do not know how to write poems /story etc but I will try something soon.
Thanks for your wishes and comment.

अल्पना वर्मा said...

बहुत बहुत बधाई ज़मीर और सभी प्रतिभागियों को इस १०० वीं पहेली के लिए.
बाहर की किसी उथल पुथल से प्रभावित हुए बिना aur ब्लॉग रेंक ,टिप्पणी संख्या,प्रतिभागियों की संख्या आदि की चिंता किये बिना
आपके अब तक के सफल आयोजन के लिए भी बधाई और शुभकामनाएं .

प्रकाश गोविन्द said...

1- History of Animals By Aristotle

2- one face

3- baadal

Rekhaa Prahalad said...

Century ke liye badhai aur shubhkamanaye.

Rekhaa Prahalad said...

1. Aristotle......Historia animalium
2. Ek (one face) chehara
3.?

Rekhaa Prahalad said...

Q.3 me andhera peeche aane ki baat nahi samjh aayi?

बूझो तो जानें said...

Aadarniya Rekha ji Namaskar.

jab (Q 3) aate hai aur group me aate hai , to charo or andhera chaa jata hai.Birds apne ghar bhagne lagte hai.
Hum bhi jaldi jaldi ghar ya office tak pauchane ki koshish karte ha.Bahut log to apna umbrella bhi check karne lagte hai.

saadar

शमीम said...

100 prashn ke liye badhai.

शमीम said...

mai to already late hu hi ,phir bhi koshish kartaa hu.
1- Historia Animelium.
2- saare hi face lag rahe hai.
3- baadal

Rekhaa Prahalad said...

Aristotle......Historia animalium
2. Ek (one face) chehara
3.kale ghanghor badal ;)