Monday, October 4, 2010

मेरा सवाल 138


यह रहा सवाल क्या आप बता सकते हैं कि हिन्दी की वह कौन सी कहानी है जिसमें न तो कथोपकथन है और न ही घटना?

मेरा सवाल 137 का सही जवाब --- कपूर कमीशन

सबसे पहले सही जवाब दिया श्री दर्शन लाल बवेजा जी जी ने.

इसके अलावा श्रीमती हरदीप संधु जी ने भी सही जवाब दिया.

आप सभी आगन्तुकों का आभार एवं धन्यवाद

4 comments:

अल्पना वर्मा said...

श्री चंडीप्रसाद 'हृदयेश' लिखित 'शांतिनिकेतन' कहानी ऐसी ही एक कहानी है.

आशीष मिश्रा said...

आदरणीय श्री दर्शन लाल बवेजा जी को ढेरों बधाई

दर्शन लाल बवेजा said...

पता नहीं....ये

शमीम said...

pata nahi .uttar ki pratiksha rahegi.