Wednesday, September 1, 2010

मेरा सवाल 132


क्या आप बता सकते हैं किस क्रान्तिकारी ने कहा था – दरो-दीवार पे हसरत की नजर करते हैं, खुश रहो अहले वतन हम तो सफ़र करते हैं?

मेरा सवाल १३१ का सही जवाब --- उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में स्थित भुलभुलयया , जिसे बडा इमामबाडा भी कहते हैं.

सर्वप्रथम सही जवाब दिया क्रिएटीव मंच जी ने .

इसके अलावा श्री राम क्रिश्न गौतम जी, श्री शमीम जी और श्री दर्शन बवेजा जी ने भी सही जवाब दिया.

अन्य सभी आगन्तुकों का आभार एवं धन्यवाद

5 comments:

बेचैन आत्मा said...

भगत सिंह

मनोज कुमार said...

आज़ाद

शमीम said...

Bhagat Singh

हास्यफुहार said...

बिस्मिल
कृष्ण जन्माष्टमी के इस पावन दिवस पर हार्दिक
शुभकामनाएँ!

दर्शन लाल बवेजा said...

ईद मुबारक
Bhagat Singh