Sunday, April 4, 2010

मेरा सवाल 112


करीब २००० साल पहले, महान सम्राट अशोक ने हिमालय के आसपास (himalayas) एक खूबसूरत शहर बसाया था.यह शहर कौन सा है ?

मेरा सवाल 111 का सही उत्तर - दादा साहेब फाल्के अवार्ड

सर्वप्रथम सही जवाब दिया श्री राम क्रिश्न गौतम जी, बधाई।


इसके अलावा श्री मनोज कुमार जी , श्रीमती रेखा प्रहलाद जी और श्री शमीम जी ने सही उत्तर दिया.

आप सभी आगंतुकों का धन्यवाद और आभार.

चलते – चलते ***** केंचुए की हड्डियां नही होती .

8 comments:

प्रकाश गोविन्द said...

पहेली 110 वाले मेरे जवाब को शीघ्र ही सही घोषित किया जाए !

नहीं सहेंगे ....नहीं सहेंगे
अन्याय नहीं सहेंगे
-
-

जब तक मेरे साथ इन्साफ नहीं हो जाता मैं मौन ही रहूँगा !

प्रार्थी -
----एक मासूम पहेली प्रेमी
----एक सच्चा ब्लागर
----एक इन्साफ पसंद भारत का सच्चा नागरिक

बूझो तो जानें said...

आदर्निय प्रकाश जी,
आप चिन्ता ना , करें .
मैं पुरी छान्बीन करके कल रात ९ बजे तक उक्त के सम्बन्ध में टिप्पणी प्रस्तुत करुंगा.

और महोदय मैं थोडा बहुत होमवर्क कर लेता हुं , ज्यादा नहीं क्योंकि समयाभाव है.

सादर

Ram Krishna Gautam said...

ज़मीर जी, ये क्या हो रहा है? एक तो इतने दिनों बाद आपके ब्लॉग पर मेरी फोटो छपी है... आर वो भी विवादों में घिर गया! प्रकाश जी ने तो विरोध के मामले में शिवसेना को पीछे छोड़ दिया... अल्पना जी भी नज़र नहीं आ रहीं जो इस बच्चे का बचाव करें! आप भी मौन हैं... मोहसिन जी तो लगभग लापता हो गए हैं!! बचा अकेले मैं... जो इतनी समस्या झेल रहा हूँ!!!



"RAM"

Ram Krishna Gautam said...

श्रीनगर|




"RAM"

मोहसिन said...

राम भाइ , लो मैं आ गया. मुझे तो रघुवीर सहाय की कविता याद आ रही है.कभी बाद में सुनाउंगा.

मुझे तो देखना है कल आपकी तस्वीर लगती है या नही.शायद हैट्रिक हो जाये.

मेरे खयाल से ११० का उत्तर आर.के.नारायन ही होगा.

राम जी , आप भी अपने विचार दे सकते हैं(Q ११० ke sambandh me).

Ram Krishna Gautam said...

बहुत बहुत धन्यवाद मोहसिन भैया!!

मैं तो बिलकुल अकेला ही पड़ गया था, आपके आने बहुत राहत मिली!!


वैसे उत्तर तो आरके नारायण ही है| ज़मीर जी कहना कि सही ऊतर मैंने दिया, प्रकाश जी बोल रहे हैं सबसे पहले उत्तर मैंने दिया... इस पर ज़मीर जी ने कहा सबसे पहले उत्तर भले ही प्रकाश जी ने दिया लेकिन उन्होंने आरके "नारायणन" कहा था न कि आरके "नारायण"! मैंने प्रकाश जी के बाद उत्तर दिया लेकिन मेरा उत्तर सही था, इसलिए ज़मीर जी ने मुझे विजेता घोषित किया!!

अरे! ज़मीर भैया अब तो अपनी चुप्पी तोड़ो और दो भाइयों (मैं और प्रकाश जी) का विवाद सुलझाओ!!

मोहसिन जी, मुझे तो ब्लॉग पर कमेन्ट छोड़ने में वैसे ही अवार्ड मिल जाता है... हैटट्रिक की चाह मुझे नहीं है!


"राम"

प्रकाश गोविन्द said...

bhaayi mohsin ji
aap please 110 number wali quiz par jaayen wahan maine comment men clear kiya hai.

बूझो तो जानें said...

Aadarniya prakaash jee,

aashaa hai , aap santust honge.
badee mehanat karnee paree is garmee me :)

saadar